डायरी आलेख/समाचार

निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित

  उत्तर प्रदेश के जिला हाथरस में लड़की की हुई हत्या और बालात्कार की घटना ने यह साबित कर दिया है कि जब तक व्यवस्था में अंतर्निहित दोषों को दूर नहीं किया जाता,तब तक अपराध की समस्याओं से मुक्ति संभव नहीं है,चाहे कोई भी राजनैतिक दल सत्ता में क्यों न आ जाए।स्वतंत्रता प्राप्ति के उपरांत १९५०में गणतंत्र की स्थापना ने एक ऐसा आत्मनिर्भर राष्ट्र का सपना साकार कर दिया था। जिस में सभी नागरिकों को अपनी राजनीतिक आजादी के साथ आध्यात्मिक व भौतिक उन्नति के समान अवसर प्राप्त हो सकते थे। परन्तु ऐसा नहीं हो सका। इसके लिए किसी व्यक्ति या राजनैतिक पार्टी की खोज आवश्यक, अब नहीं है। क्यों कि,आज भारत का कोई भी राजनैतिक दल शिकायत नहीं कर सकता है कि जनता ने उसे बदलाव करने का मौका नहीं प्रदान किया है। जनता ने यह अवसर किसी न किसी रूप में सभी दलों को दिया है। परन्तु परिस्थितियां लगातार बद से बद्तर ही होती जा रही है। ऐसा नहीं है कि आजादी के बाद भारत में विकास नहीं हुआ है। विकास भी हुआ है और बदलाव भी हुआ है, परन्तु उसका लाभ समाज के छोटे से तबके को ही मिला है। समाज का बहुत बड़ा हिस्सा आज भी समस्त प्रकार के अवसरों से आज भी वंचित है या फिर उसे अपनी कानूनी सुविधाएं उपलब्ध नहीं है। साथ ही यह भी सच है कि समाज का यह बड़ा तबका स्वतंत्रता पूर्व जिन समस्याओं से जूझ रहा था, उदाहरण के तौर पर जैसे अलगाववाद, साम्प्रदायिकता, जातिवाद, आतंकवाद,भृषटाचार, बेरोजगारी, ग़रीबी, कुशिक्षा,कु स्वास्थ्य, जीवन की असुरक्षा, कानून के आगे सभी नागरिकों की गैर बराबरी, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर रोक मौलिक सुविधाओं की गैर मौजूदगी, सम्पन्न लोगों की सामंती मानसिकता, अमानवीय सामाजिक कुरीतियां, अंधविश्वास आदि समाप्त होने अथवा कम होने के स्थान पर,क ई गुना बढ़ गई है। आखिर ऐसा क्यों? क्या समाज का बड़ा हिस्सा बदलाव नहीं चाहता है। अगर ऐसा होता तो १९७४ में भृषटाचार के खिलाफ बडा आन्दोलन न होता,उस आन्दोलन के दमन के लिए आपातकाल लागू करने की तत्कालीन सरकार को आवश्यकता न पड़ती,१९७७ के चुनाव में कांग्रेस का सफाया न होता तथा गैर कांग्रेस वाद के नारे पर गठबंधन वाली जनता पार्टी को बहुमत न मिला होता,१९८९ में जनता दल की सरकार ने बनी होती, तथा अभी हाल में २०१४ में लोकपाल को लेकर भृषटाचार विरोधी आंदोलन को जनता का इतना बड़ा समर्थन न मिला होता। निःसंदेह, यह स्पष्ट है कि जनता बदलाव चाहती है।राजनैतिक सत्ता देने व लेने में वह किसी भी दल के साथ मौरववत नहीं करती है।जब भी किसी दल या व्यक्ति में उसे कोई उम्मीद की किरण दिखाई पड़ती है वह उसे राजनैतिक सत्ता के गलियारों तक पहुंचा देती है और जब उसकी उम्मीद टूट जाती है तब उसे भी हाशिए में दफना देती है। इसलिए मौजूदा हुक्मरानों को आज उत्पन हालातों को देखते हुए इतिहास से सबक लेने की जरूरत है। उनको ऐसे फैसलों से बचना चाहिए जो समाज के बड़े हिस्से को वंचित करने व कुछ लोगों या पूंजीपतियों या कोरपोरेट को ही सिर्फ लाभ देते हों।काठ की हांडी में दाल मत पकाओ। अहंकार,नफरत और गुस्से की खेती स्वतंत्रता आंदोलन के बलिदान को मिट्टी में मिला देने का काम कर रही है।जिसे वर्तमान पीढ़ी समझते ही ,आप की सियासत को मिट्टी में ना मिला दें। फिर मौका मिले या ना मिले । इसलिए जनता के साथ किया रोजगार देने का वादा पूरा करो।

निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित

  सभी स्नेहिल बहनों को आज दिनांक 5 अक्टूबर दिन सोमवार की सुप्रभात 🙏मेरी बहनों आज के दिन को हम विश्व शिक्षक दिवस के रूप में पूरी दुनिया में धूमधाम से मनाते हैं वैसे तो हमारे देश में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है लेकिन यूनेस्को की सिफारिश के बाद संयुक्त राष्ट्र ने 1994 में एक बिल पारित करके 5 अक्टूबर विश्व शिक्षक दिवस पर मनाने की घोषणा की दुनिया के लगभग हर देश में अपनी टीचर्स के प्रति सम्मान और आदर्श को दर्शाने के लिए टीचर्स डे मनाया जाता है लेकिन मेरे मन में एक भाव जागा है, हमारे संस्कृति में मां बच्चे की प्रथम गुरु होती है तो आज के दिन हम सब बहनों को अपने अपने बच्चों को मां को ही गुरु के रूप में बताएं और समझाएं और खुद भी समझें। और आज वर्ल्ड टीचर्स डे के दिन को सार्थक करें। और अपने संस्कार, संस्कृति का ध्यान रखते हुए मां ही गुरु, मां ही ब्रह्मं मां ही सखा मां ही सर्वज्ञ विश्व शिक्षक दिवस की शुभकामनाओं के साथ 💐💐💐💐💐💐💐💐 दीपिका डॉ प्रवीण गुप्ता

प्रयोक्ता रेटिंग:$ s /$ s

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक

रीवा 04 अक्तूबर 2020

श्रीगोपाल गुप्ता 

जिले के 10 विभिन्न स्थानों में कोरोना संक्रमित रोगी पाये जाने पर कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार तहसील गुढ़ के ग्राम बंजारी वार्ड क्रमांक 3 मिथिलेश द्विवेदी का घर, तहसील त्योंथर के ग्राम पंछा के वार्ड क्रमांक 5 में बालेन्द्र तिवारी के मकान से अनिल कुशवाहा के मकान तक, नगर परिषद त्योंथर के वार्ड क्रमांक 5 में पुलई कुम्हार से राजेश के घर तक, नगर परिषद चाकघाट के वार्ड क्रमांक 13 में एनएसपीजी हास्टल तथा तहसील मऊगंज के ग्राम नौढ़िया नम्बर दो में भोला प्रसाद साकेत के घर को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये गये हैं।
    कलेक्टर ने तहसील हुजूर के ग्राम मोहनी के वार्ड क्रमांक 6 में रामचन्द्र साकेत का घर, ग्राम कठार के वार्ड क्रमांक 5 में रामसिया पाण्डेय का घर, ग्राम जेरूका के वार्ड क्रमांक 3 में रामायण शर्मा का घर, ग्राम दुआरी में रमाकांत द्विवेदी का घर तथा तहसील मऊगंज के ग्राम चन्द्रमहुली में अब्दुल रहीम के घर को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। कंटेनमेंट एरिया में आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।
    जारी आदेश के अनुसार घोषित किये गये कंटेनमेंट एरिया में निवास करने वाले सभी निवासियों को होम क्वारेंटाइन में रहना होगा। इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस विभाग तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए अधिकृत व्यक्तियों के अतिरिक्त सभी का प्रवेश वर्जित होगा। कंटेनमेंट एरिया में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा अन्य स्थानीय कर्मचारियों के दल तैनात किये गये हैं। इनके द्वारा कंटेनमेंट क्षेत्रों के प्रत्येक घर में जाकर निर्धारित प्रपत्र में व्यक्तियों की जानकारी तैयार की जायेगी। जारी आदेश के अनुसार संबंधित क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया के लिए संबंधित एसडीएम को इंसिडेंट कमाण्डर बनाया गया है। इन्हें सहयोग देने के लिए राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, नगरीय निकाय, जनपद पंचायत तथा लोक निर्माण विभाग के अधिकारी तैनात किये गये हैं। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्रों में निर्देशों तथा प्रतिबंधों का कठोरता से पालन कराने के निर्देश दिए हैं।

निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित
भिण्ड | 04-अक्तूबर-2020
 
 
 BHIND 
 
     भारत निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव में सूचना प्रौद्योगिकी का अधिक से अधिक उपयोग किया जा रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को आयोग द्वारा वीडियो कान्फ्रेंसिंग से उप चुनाव वाले 19 जिलों के निर्वाचन अधिकारियों को बूथ लेवल एप के उपयोग का प्रशिक्षण दिया गया।
    बूथ लेवल एप से मतदाताओं द्वारा मतदान के समय उसकी पहचान डिजिटल तरीके से हो सकेगी। इसमें मतदाता को प्रदाय वोटर स्लिप को मतदान केन्द्र पर स्केन करते ही उस समय तक कितने मतदाताओं द्वारा मतदान किया जा चुका है, इसकी पूरी जानकारी सर्वर पर मिल जाएगी और रीयल टाइम में मतदान का प्रतिशत भी ज्ञात हो सकेगा।
    यदि कोई मतदाता पुनरू वोट डालने आ जाता है तो बूथ लेवल एप तत्काल उसकी पहचान कर लेगा। इससे फर्जी मतदान रोकने में सुविधा होगी। प्रशिक्षण में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के तकनीकी अधिकारी भी उपस्थित थे।

प्रयोक्ता रेटिंग:$ s /$ s

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक
    श्रीगोपाल गुप्‍ता मुरैना मीडिया पर चुनाव-प्रचार संबंधी कार्यक्रम व क्लिपिंग इत्यादि प्रसारित करने के लिये पूर्व अनुमति लेनी होगी। इसके लिये राजनैतिक दलों और प्रत्याशियों को मूल स्क्रिप्ट सहित सम्पूर्ण प्रचार सामग्री की कैसेट जिला निर्वाचन अधिकारी को दिखानी होगी। उक्त आशय की जानकारी कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मीडिया अनुवीक्षण एवं प्रमाणन समिति (एमसीएमसी) की बैठक में दी।    शनिवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि मूल स्क्रिप्ट सहित सम्पूर्ण चुनाव प्रचार सामग्री की बारीकी से जाँच करने के बाद ही इलेक्ट्रोनिक मीडिया से चुनावी प्रचार संबंधी कार्यक्रम व विज्ञापन पट्टियाँ प्रसारित करने की अनुमति दी जायेगी। इस जाँच में खासतौर पर यह देखा जायेगा कि इस प्रचार-प्रसार से आचार संहिता का उल्लंघन तो नहीं हो रहा।    कलेक्टर श्री सिंह ने एमसीएमसी की जिला स्तरीय समिति के सभी सदस्यों से कहा कि भारत निर्वाचन आयोग ने "पेड न्यूज" पर बारीकी से ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। एमसीएमसी ही पेड न्यूज के संबंध में निर्णय लेगी। इसके लिये जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा पृथक से मीडिया सेंटर स्थापित किया जा रहा है, जिसके जरिए 24 घण्टे इलेक्ट्रोनिक मीडिया और प्रिंट मीडिया द्वारा प्रसारित होने वाली खबरों की गहन छानबीन की जायेगी। पेड न्यूज साबित होने पर संबंधित राजनैतिक दल प्रत्याशी के निर्वाचन व्यय में पेड न्यूज प्रकाशन पर हुआ खर्च जोड़ा जायेगा। जिला स्तरीय एमसीएमसी के निर्णय से संतुष्ट न होने पर अभ्यर्थी राज्य स्तरीय एमसीएमसी में अपील कर सकेंगे।    बैठक में अपर कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी एमसीएमसी श्री किशोर कान्याल, समिति के सदस्य सचिव एवं अपर संचालक जनसंपर्क श्री जी एस मौर्य एवं सदस्यगण सर्वश्री राजेश शर्मा, विनोद शर्मा व श्री सुनील पाठक मौजूद थे।

प्रयोक्ता रेटिंग:$ s /$ s

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक

आज से आवाज ए हिन्द पर समाचार आलेख सेवायें शुरू कर दी गयीं हैं , अब सारे समाचार और आलेख आपकी वेबसाइट  www.awazehind.in के मुख्य पृष्ठ  पर सीधेे ही बाक्स मेें दिखेंंगें 

वेबसाइट के मुख पृष्ठ को खोलें 

आपका

श्री गोपाल गुप्ता  

निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित

यहां जानिये कुछ हमारे बारे में 

निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित

भ्रष्ट मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी की मुरैना में रोजाना दस बारह घंटे की बिजली कटौती जारी है 

उपश्रेणियाँ