निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित
 

     मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 30 नवंबर रात को  जनता को संदेश देते हुये आनलाइन व इलेक्ट्रानिक मीडिया से रूबरू होकर कहा कि अब नहीं अंधेरगर्दी चलेगी औरन जनता को और किसानों को दुखी व परेशान होने दिया जायेगा ।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सीएम हेल्पलाइन योजना एक बार फिर प्रभावी तरीके से शुरू की जाएगी। इस योजना को पिछली कमलनाथ सरकार ने ठंडे बस्ते में डाल दिया था। इसके अलावा मुख्यमंत्री समाधान ऑनलाइन योजना भी फिर से शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि दोनों योजनाओं की मॉनिटरिंग मैं स्वयं करूंगा। इसके साथ ही जिलों व गांवों की जनता की समस्याएं जानने और योजनाओं की जमीनी हकीकत पता करने औचक निरीक्षण भी करूंगा।

मुख्यमंत्री ने रात 8 बजे प्रदेश की जनता के नाम संदेश दिया। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय कृषि बिल, किसानों की योजनाओं, कोरोना संक्रमण की स्थिति और मिलावट पर कसावट अभियान को लेकर जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय कृषि बिल को किसानों के हित में बताते हुए विपक्ष पर कटाक्ष भी किया। उन्होंने कहा कि नए कानून में किसानों को फसल बेचने की स्वतंत्रता दी गई है। वह अपनी फसल चाहे तो मंडी में बेच सकता है या फिर बाहर। किसान को फसल का ज्यादा दाम मिलता है तो किसी को तकलीफ क्यों? यदि व्यापारी ज्यादा से ज्यादा फसल खरीदना चाहता है तो लिमिट क्यों लगे? मुख्यमंत्री ने बताया कि 3 दिसंबर को प्रदेश के 5 लाख किसानों के खाते में सम्मान निधि की राशि ट्रांसफर की जाएगी।

सर्दी के साथ बढ़ता है कोरोना संक्रमण

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, रतलाम और धार जिले में विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत है। सरकार के स्तर पर हर संभव प्रयास किए जा रहे। कई जिलों में कंटेनमेंट एरिया फिर से बनाए गए है। सर्दी के साथ यह संक्रमण बढ़ता है। ऐसे में ज्यादा एहतियात बरतें।

दुष्टों के लिए वज्र से कठोर है सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि सुशासन देना मेरी सरकार की प्राथमिकता है। आमजन के लिए फूल से भी कोमल और दुष्टों के लिए वज्र से भी कठोर है मेरी सरकार। उन्होंने कहा कि गुंडे-बदमाश, सट्टेबाज और अड़ीबाजों को छोड़ा नहीं जाएगा।

मिलावटखोरों को नहीं छोड़ेंगे

पिछले एक माह से चल रहे मिलावट पर कसावट अभियान को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह निरंतर जारी रहेगा। आम लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं है। ऐसे माफियाओं पर प्रभावी तरीके से कार्यवाही की जाएगी।

धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम का ड्राफ्ट तैयार

मुख्यमंत्री ने बताया कि धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम 2020 का ड्राफ्ट तैयार हो गया है। विधानसभा के शीतकालीन सत्र में इस बिल को पारित कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि बेटियों को बहला फुसला कर शादी कर धर्मांतरण कर कुचक्र चलता है। हम बेटियों को नरक में नहीं जाने देंगे। इसके लिए बिल में सख्त प्रावधान किए गए हैं।