निष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकितनिष्क्रिय तारांकित
 

वेबिनार में भारत के सभी 197 न्यायबंधु होंगें शामिल , ग्वालियर हाईकोर्ट क्षेत्र तथा अधीनस्थ सभी न्यायालयों के लिये इकलौते न्यायबंधु एडवोकेट  नरेन्द्र सिंह तोमर होंगें वेबिनार में शामिल

ग्वालियर / मुरैना 24 नवम्बर 2020 , न्याय विभाग भारत सरकार की ओर से प्रोबोनो लीगल सर्विसेज ( न्याय बंधु ) में कार्य कर रहे भारत के सभी 197 एडवोकेटों को ई मेल भेजकर अवगत कराया गया है कि उनके लिये न्याय विभाग भारत सरकार द्वारा एक अत्यंत उपयोगी व महत्वपूर्ण वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है , न्याय विभाग सभी प्रकार के न्याय संबंधी तथा इन्नोवेटिव कार्यों हेतु नोडल एजेंसी है । तथा सभी उच्च न्यायालयों के तथा सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों को नियुक्त करने / हटाने से लेकर न्याय बंधु / न्याय मित्र आदि कार्यों को एकलित व संकलित करने , सूचीबद्ध करने , न्यायालयों के आधुनिकीकरण आदि सभी कार्यों को करता है ।

न्याय बंधुओं ( प्रोबोनो लीगल सर्विसेज , नालसा – नेशनल लीगल सर्विसेज अथारिटीज एक्ट – 1987 के तहत कार्यरत ) के लिये  आयोजित इस वेबिनार में न्याय बंधुओं से उनके विचार, अनुभव , सलाह परामर्श आमंत्रित किये गये हैं । जिस सब पर यह वेबिनार केंद्रित होगा । इसके साथ ही आगे भविष्य में भी ऐसे वेबिनार आयोजित किये जाते रहेंगें ।

सभी न्यायबंधुओं ( प्रोबोनो लीगल सर्विसेज ) को भारत के संविधान की प्रस्तावना भी भेजी गयी है उस पर सभी न्याय बंधुओं के विचार व अनुभव भी आमंत्रित किये गये हैं ।

अब इस वेबिनार के साथ ही 26 नवम्बर से न्याय विभाग भारत सरकार की मोबाइल और वेब एप्लीकेशन न्याय बंधु ( प्रोबोनो लीगल सर्विसेज ) जो कि अभी तक प्ले स्टोर से डाउनलोड करना पड़ती थी , यह एप्लीकेशन अब उमंग एप्प में ही उपलब्ध रहेगी जिसे आसानी से न्यायबंधु तथा , विधिक सहायता के पात्र सभी हितग्राही बहुतायत से उपयोग कर सकेंगें और न्यायालयीन कार्य संपादित कर सकेंगें ।

उल्लेखनीय है कि प्रोबोनो लीगल सर्विसेज ( न्याय बंधु ) को न्याय विभाग भारत सरकार द्वारा सन 2017 में शुरू किया गया था । तब से यह सेवा निरंतर उत्तरोत्तर कार्यरत है और न्यायबंधुओं द्वारा अनेक न्यायालयों में प्रकरण इस सेवा के तहत निराकृत कराये ।