प्रयोक्ता रेटिंग:$ s /$ s

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक
 
                                          कल्लन के माध्यम से वैश्य वोटरों को साधने की कांग्रेस कि कवायद श्रीगोपाल गुप्ता प्रदेश में विधानसभा के हो रहे 28 उप चुनाव के बीच कांग्रेस ने चम्बल मुख्यालय मुरैना जिले की पांचों सीटों पर लाखों वैश्य वर्ग के मददाताओं को साधने के लिए वैश्य समाज के चर्चित चेहरे प्रसिद्ध समाज सेवक और औधोगपति विष्णु अग्रवाल "कल्लन" को कार्यकारी जिला अध्यक्ष घोषित किया है! उल्लेखनीय है कि जिला व्यापार महासंघ के अध्यक्ष विष्णु अग्रवाल पूर्व विधायक व ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक मुन्नालाल अग्रवाल के समधी हैं, जिनकी भूमिका गत विधानसभा चुनाव 2018 में कांग्रेस के लिए काफी महत्वपूर्ण और सकारात्मक रही! इस चुनाव में जहां कल्लन ग्वालियर पूर्व से कांग्रेस मुन्नालाल अग्रवाल को जिताने के लिए चुनाव के दौरान एक महिने ग्वालियर डटे रहे, वहीं मुरैना जिले की सभी छह सीटों पर धूंआदार कांग्रेस प्रत्याशियों को जिताने के लिए अपने व्यापारिक संगठन जिला व्यापार मण्डल के पदाधिकारी व सदस्यों के साथ सक्रिय रहे! उनकी पार्टी के प्रति सक्रिय भूमिका और क्षमताओं को देखते हुए प्रदेश कांग्रेस के महासचिव व प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के अत्यंत नजदीकी गोंविंद अग्रवाल की अनुशंसा पर स्वयं पूर्व मुख्यमंत्री कभलनाथ ने उनका मनोयन किया है, उनके मनोयन की घोषणा कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक ने की! कल्लन को कार्यकारी जिला अध्यक्ष बनाने के पीछे कांग्रेस की स्पष्ट मंशा है कि परम्परागत रुप से भाजपा का वोट बैंक बन चुके वैश्य मतदाताओं में पैठ कर इन उप चुनाव में भाजपा को झटका दिया जाये! परिस्थिति बस इन उप चुनाव में वैश्य मतदाता विगत कई चुनाव के बिपरीत भारतीय जनता पार्टी से अच्छा-खासा नाराज दिखाई दे रहा है! उसकी नाराजी की दो वजह हैं पहली वही की इन चुनाव में जिले में किसी वैश्य को टिकट नहीं देना और दूसरा वह मानता है कि कमलनाथ की कांग्रेस की सरकार को गिराकर भाजपा ने लोकतंत्र का माखौल उड़ाया है! वैसे भी मुरैना से रामप्रकाश राजोरिया ने बहुजन समाज पार्टी से नामाकंन दाखिल कर भाजपा के वैश्य मतदाताओं के गढ़ में धमाकेदार एंट्री कर ली है! भाजपा रामप्रकाश राजोरिया की काट में लगी ही थी कि कांग्रेस ने कल्लन को जिला कार्यकारी अध्यक्ष बनाकर भाजपा के लिए परेशानियों में और इजाफा कर दिया है! इधर कल्लन को स्वयं कमलनाथ ने बड़ा महत्व देते हुये जिले के दौरे पर अपने साथ रखा, उन्होने दिमनी सहित कई विधानसभा क्षेत्रों में कल्लन को मंच पर अपने साथ बिठाया! बहरहाल विष्णु अग्रवाल को कार्यकारी अध्यक्ष बनाये जाने और कमलनाथ द्वारा उन्हें विशेष सम्मान दिये जाने से वैश्य समाज काफी खुश और अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा है!इसके लिए अखिल भारतीय वैश्य ऐकता परिषद की प्रदेश इकाई ने कमलनाथ व गोंविंद अग्रवाल के प्रति धन्यवाद देते हुये कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने का वैश्य बंधूओं से आव्हान किया है! बहरहाल देखना दिलचस्प होगा कि कल्लन को कार्यकारी जिला अध्यक्ष बनाने पर भाजपा का परंपरागत मतदाता रहा वैश्य समाज कांग्रेस को कितना सहयोग देता है, क्योंकि मुरैना, अबांह और जोरा में वैश्य मतदाता निर्णायक माना जाता है!